[gtranslate]

लकवा का पक्के आयुर्वेदिक इलाज के लिए अभी कॉल करे

लकवा (पैरालिसिस) का पक्का आयुर्वेदिक इलाज

घर बैठे पाए मुफत परामर्श लकवा के सर्वश्रेष्ट डॉक्टर्स से आरोग्यम भारत का पहला आयुर्वेदिक हस्पताल है जिसने लकवा (पैरालिसिस) के हजारो मरीजों का जड़ से इलाज किया है |

लक्षण :

मरीज का अचनाक मुँह सुनन, बोलने में असमर्थता तथा लारे निकलने लगती है |

शरीर का प्रभाबित हिस्सा काम करना बंद कर देता है तथा वह सुन रहता है और दर्द भी रहती है |

मॉसपेशिया  कमजोर हो जाती है तथा उनमे कार्य करने की क्षमता काम हो जाती  है | 

खाना खाने के बाद जी मिचलाना या उलटी आना |

वात दोष प्रधान  इस रोग को आयुर्वेद में पक्षघात कहते है तथा इसमें शरीर में असंतुलन हो जाता है तथा चलना फिरना बहुत मुश्किल हो जाता है|

अपना विवरण भरें आरोग्यम चिकित्सक आपको कॉल करेगा


    कारण :

    शरीर के  किसी हिस्से में खून का थक्का जमने के कारण मस्तिष्क  में रकत परवाह रुक जाता है तथा लकवा का अटैक आ जाता है |

    बिघडती जीवन शैली के कारण भी शुगर और ब्लड प्रेशर बढ़ने से भी लकवा का अटैक हो जाता है |

    अधिक मानसिक तनाव भरी जीवन शैली होने से भी कोशिकाओं और मस्तिष्क में रकत प्रवाह रुक जाता है |

    हमारे डॉक्टर से परामर्श करें

    घरेलु नुस्खे

    हल्दी को  दूध में पका कर रोज़ जरूर पिएँ |

    लहसुन की 4 कलिया पीस कर  मिला कर शहद रोज़ सुबह सेवन करें।

    निम्बू पानी का एनिमा लेना भी बहुत फायदा देता है |

    आरोग्यम के लकवा रोग के माहिर डॉक्टर

    डॉ. सतनाम सिंह

    डॉ. हरवीन कौर

    लकवा(पैरालिसिस) आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज करने के लिए पार्लियामेंट हाउस में सन्मानित किया गया

    लकवा मरीज

    अचानक एक दिन में रात को सोया और सुबह जब उठा तो लगा के में अपनी दाएं बाजू और टांग हिला नहीं पा रहा था।शरीर में बहुत दर्द और सुनन सा शरीर और बहुत कमजोर लग रही थी मुँह का एक हिस्सा भी सुनन हो गया था, लारें निकल रही थी और में अपने घर वालो को बुला भी नहीं पा रहा था।

    घर के लोगों को पता चला तो वह अंग्रेजी डॉक्टर्स के पास ले गए, उन्होंने बहुत अच्छे से इलाज किया। दिमाग पर जो स्ट्रोक हुआ था वह ठीक भी हो गया पर शरीर के एक हिस्से और मुँह की मॉसपेशियो पर पहले जैसी ताकत वापस ना आ सकी स्ट्रोक होने के 4  महींने के बाद तक में ठीक से  बोल भी नहीं पता था। आरोग्यम गया तो उन्होंने मेरा इलाज शुरू किया। उन्होंने कहा की स्ट्रोक के बाद जितनी जल्दी हम आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज करवाते है उतना जल्दी result आते है

    Copyright © 2020 Arogyamayurveda. All Rights Reserved.
    You need to add an indication that the promoted product is not a medicine (Promoted product is Dietary Supplement)
    Add to cart